Janhindi - Latest Hindi News Khabare Samachar

कमल हसन की पार्टी ने नाथूराम गोडसे के आतंकवादी होने के बयान पर दिया ये तर्क !!

हिंदुस्तान की राजनीति में आये दिन ऐसे मुद्दे आते रहते हैं जो साबुन के झाग की तरह हल्के होते हैं लेकिन पूरे देश की बातों को ढक लेते हैं और हर तरफ़ बस उसी बारे में बात शुरू हो जाती है। गाय, नेहरू, पाकिस्तान जिनका इस देश से इसके लोगों की ज़िंदगी से कोई वास्ता नहीं है उन पर हफ़्ते भर बहस चलती रहती है।

और ऐसा ही एक मुद्दा आजकल है महात्मा गाँधी का हत्यारा नाथूराम गोड्से। नाथूराम गोडसे संघ के आदर्श हैं और वो छुप-छुपाकर उनकी पिस्तौल की राजनीति का सालों से बचाव करती आयी है। और इसीलिए अब जब सत्ता में उनकी पार्टी भाजपा की सरकार है तो वो इस बारे में अब ज़्यादा खुलकर अपना बचाव करते हैं।

Image result for kamal haasan nathuram

बुधवार को मशहूर अभिनेता और राजनीति में अपना कदम रखने जा रहे कमल हसन भी कुछ इसी तरह फंस गए। दरअसल कमल हसन एक मुस्लिम बाहुल्य इलाके में अपनी पार्टी माक्कल निधि माइआम के उम्मीदवार के लिए वोट मांग रहे थे। जहाँ उन्हें लगा कि वोटों के लिए धर्म का कार्ड खेलना बढ़िया रहेगा और उन्होंने कह दिया कि आज़ाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिन्दू नाथूराम गोडसे था।

Image result for kamal haasan nathuram

कमल हसन का ये बयान जैसे ही मीडिया में आया लोगों ने अपना काम शुरू कर दिया, कमल को ट्रोल करना, धमकियां देना और कुछ मूर्खों द्वारा तो नाथूराम को देशभक्त तक बताया जाने लगा। वहीँ राजनीति में अपने पहले कदम में ही औंधे मुंह गिरने वाले कमल अब अपने फैलाये रायते को बटोरने में लगे हैं।

Image result for kamal haasan nathuram

इसीलिए उनकी पार्टी ने कहा कि कमल धार्मिक सहिष्णुता और आपसी भाईचारे की बात कर रहे थे।

एक न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए MNM ने कहा “उनके इस बयान को बिल्कुल गलत जामा दिया गया है और उनकी स्पीच को जान बूझकर हिन्दू विरोधी बताया जा रहा है। जिसके कारण देश की जनता में काफ़ी असंतोष है क्योंकि उन्हें इसके पीछे चल रही साज़िश के बारे में नहीं पता है”

Image result for godse

इसके अलावा मीडिया प्रवक्ता ने कहा कि “कमल हसन धार्मिक सहिष्णुता और आपसी भाईचारे की बात कर रहे थे। उनका मक़सद धार्मिक चरमपंथिता को रोकना था फिर चाहें वो किसी भी धर्म में हो।”

कमल के बयान के बाद कई हिन्दू धर्म के दलों ने उनके ख़िलाफ़ प्रदर्शन शुरू कर दिया था जिसके बाद चेन्नई में उनके घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *